Ahmedabad: सामान्य डेटा संरक्षण विनियमन (जीडीपीआर) और उसके भारत में पड़ने वाले प्रभावों पर एक विशद विश्लेषण वेबफेअर मीटअप के छठवें संस्करण में यहां के होटल नमी रेजीडेंसी में किया गया।

जीडीपीआर लागू होने के बाद भारतीय ऑनलाइन उद्यमियों के अपनी ऑनलाइन संपत्तियों को अनुपालन में लाने के संबंध में सर्वरगाय के संस्थापक अरुण बंसल ने मौजूद उद्यमियों, छात्रों और शोधकर्मियों की जिज्ञासाओं का समाधान प्रस्तुत किया। इसके अलावा, सस्ताहोस्ट के संस्थापक पंकज चौपड़ा, तेज सॉलप्रो के संस्थापक जयदीप पारिख, स्टार्टअप कैफे के संस्थापक जय पौड़ियाल, डिजिटल मार्केटिंग सलाहकार अमित पांचाल और गोडैडी के वरिष्ठ प्रबंधक गौरव नकुल ने भी विभिन्न विषयों पर अपने संबोधन किए। समीक्षा भारती न्यूज सर्विस से बात करते हुए आयोजन के प्रबंधक सुमीत चौपड़ा ने बताया कि इस संगोष्ठी का आयोजन वेब इंडस्ट्री के छोटे-बड़े उद्यमियों, शोधकर्मियों और विद्यार्थियों को ध्यान में रखते हुए किया गया था। गोष्ठी के दौरान डोमेन, होस्टिंग, ब्लॉगिंग, वेब कंटेंट, सर्च इंजन ऑप्टीमाइजेशन (एसईओ), इंटरनेट मार्केटिंग, ओपन सोर्स प्लेटफॉर्म, वेब सिक्योरिटी, ऑनलाइन बिजनेस, सोशल नेटवर्क व दूसरे अन्य अनुप्रयोगों के बारे में भी कई चर्चाएं हुईं। गोडैडी, सस्ताहोस्ट और एबी ग्रुप इस गोष्ठी के प्रायोजक थे तथा मीडियाभारती.कॉम, जीइंडियान्यूज.कॉम, द इमर्जिंग वर्ल्ड, वीवाइरल,इन और समाचारएक्सप्रेस.कॉम इस आयोजन के दौरान मीडिया पार्टनर रहे।