चमन शर्मा
अलीगढ़: महान गीतकार गोपाल दास 'नीरज' पंचतत्व में विलीन हो गए. उनका राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया, जिसमें हर आँख रोई.

उनके जनक पुरी आवास से अपार जन समूह के मध्य नीरज जी के गीतों की धुन से उन्हें विदाई दी गई.नीरज की तबीयत मंगलवार को खराब हो गई थी जिसके बाद उन्हें आगरा के लोटस हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. तबीयत अधिक बिगड़ने पर उन्हें दिल्ली के एम्स लाया गया था जहां उनका निधन हो गया. गोपाल दास नीरज का जन्म 4 जनवरी 1925 को उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के पुरवली गांव में हुआ था.