Aligarh: वैसे तो इंसानों में हर्निया के ऑपरेशन के बारे में आपने बहुत बार सुना होगा, मगर जानवरों में शायद कम ही लोगों ने यह सुना होगा |

राधा रमण गौशाला ,सासनी गेट ,अलीगढ में एक गाय के बछड़े  का सफल ऑपरेशन अपने शहर के पशु शल्य चिकित्सक डॉ विराम वार्ष्णेय द्वारा किया गया| ऑपरेशन में करीब 2 घंटे का समय लगा | ऑपरेशन के 20 दिन बाद बछड़ा पूर्णतः स्वस्थ है | पहले इस तरह के पशु या तो मर जाते थे या फिर ऐसे पशुओं को मथुरा पशु अस्पताल ले जाना पड़ता था | जब से डॉ विराम ने अपनी सेवा गौशाला पर देनी शुरू की है तब से अधिकतर ऑपरेशन गौशाला पर ही हो रहे है | पशु शल्य चिकित्सक डॉ विराम ने बताया कि हर्निया किसी पशु के सिंग के आघात से दूसरे पशु के शरीर में लगने से हो जाता है  | चूँकि गौशाला में गौवंश संख्या 200 से ऊपर  है तो अक्सर इस तरह की समस्या देखने को मिलती हैं | राधा रमण गौशाला केवल और केवल घायल और लावारिस गौवंश को लेती है इसलिए यहाँ आये दिन यहाँ ऑपरेशन चलते रहते हैं |

इन्हें भी पढ़ें

loading...