Aligarh: “ निःसंतानता के लिए केवल महिला को दोषी ठहराना सही नहीं, पुरूष भी उतने ही जिम्मेदार हैं। ईलाज के द्वारा महिला या पुरूष की सबंधित समस्या

का ईलाज कराकर हर घर आंगन में नन्हें-मुन्ने की किलकारी गूंज सकती है। उक्त बातें आईवीएफ व स्त्री रोग विशेषज्ञ डाॅ सुरेखा चौधरी ने शांति नर्सिंग होम के शांति टेस्ट ट्यूब बेबी सेंटर पर निःसंतान दम्पत्तियों के लिए आयोजित निःशुल्क आईवीएफ शिविर में कहीं। शिविर का शुभारम्भ आईवीएफ व स्त्री रोग विशेषज्ञ डाॅ सुरेखा चौधरी ने फीता काटकर किया। शिविर में आईवीएफ व स्त्री रोग विशेषज्ञ डाॅ सुरेखा चौधरी ने 70 से अधिक निःसन्तान महिलाओं व उनके पतियों की जांच कर, उन्हें बांझपन से जुड़ी समस्याओं पर चिकित्सकीय परामर्श प्रदान कर संतान सुख प्राप्ति के लिए एक किरण दिखाई। साथ ही शिविर में शुक्राण, बच्चेदानी के मुंह की जांच अधिकतम छूट सहित अत्याधुनिक मशीनों के माध्यम से की गई। डाॅ सुरेखा चौधरी ने बताया कि “ बांझपन के लिए लगातार बदलती जीवनशैली भी है, जिससे महिला व पुरूष दोनों ही प्रभावित हो रहे हैं और दोनों ही निःसंतानता के लिए जिम्मेदार हैं। ” इसी श्रंखला में अगला शिविर आगामी 26 अगस्त 2018, दिन रविवार को दोपहर 2 से 4 बजे तक लगाया जाऐगा। कैम्प के लिए निःशुल्क पंजीकरण शुरू हो गऐ हैं। कैम्प की जानकारी के लिए निःशुल्क हैल्पलाइन 18001803344 पर सम्पर्क किया जा सकता है। शिविर में डाॅ कल्पना बघेल, डाॅ नेहा गौड, डाॅ शुगुफ्ता जुबैरी, अरीना खांन, डैजी आॅस्तिन, ललितेश, सोनी, अरविंद शर्मा, अखिलेश यादव आदि उपस्थित थे।

इन्हें भी पढ़ें

loading...