Aligarh:इग्नू के अध्ययन केन्द्र आईआईएमटी, अलीगढ़ पर इंडक्शन मीटिंग का शुभारम्भ इग्नू के क्षेत्रीय निदेशक डाॅ एम.आर.फैज़ल, आईआईएमटी सचिव पंकज महलवार, रजिस्ट्रार डाॅ बृजेंद्र सिंह, प्राचार्य शंभू के एन सिंह रावत, कोर्डिनटर डाॅ गोविंद वाष्र्णेय,

कार्यक्रम संयोजक कुलदीप गौड़ ने दीप प्रज्जवलित कर किया। क्षेत्रीय निदेशक डाॅ एम.आर. फैज़ल ने कहा कि ’’ इग्नू बतौर केन्दªीय विश्वविद्यालय आज मुक्त एवं दूरस्थ शिक्षा के क्षेत्र में विश्व का सबसे बड़ा विश्वविद्यालय है । इग्नू का आविर्भाव विश्व में विशालतम मुक्त विश्वविद्यालय के रूप में हुआ है। ’’ आइआइएमटी सचिव पंकज महलवार ने कहा कि ’’ इग्नू के सभी कार्यक्रम किसी भी अन्य विश्वविद्यालय के कार्यक्रमों के समकक्ष हैं। योग्य एवं अनुभवी शिक्षकों एवं शिक्षिकाओं की परामर्शदाताओं के रूप में इग्नू में नियुक्ति दी गयी है। ” कोर्डिनटर डाॅ गोविंद वाष्र्णेय ने बताया कि ’’ आइआइएमटी अध्ययन केन्द्र पर स्नातक, परास्नातक, डिप्लोमा, प्रमाण पत्र सबंधित विभिन्न प्रकार के कोर्स संचालित होते हैं। कोई भी व्यक्ति जो कहीं भी कार्यरत है और अपनी शिक्षा को बिना किसी बाधा के जारी रखना चाहता है। ’’ इग्नू छात्र राहुल कुमार, रामबाबू पाल, आर.सी. पाली, रन बहादुर, हिमांशु चैहान, नवीन कुमार ने अपने मन में उठने वाले प्रश्नों के जबाब इग्नू क्षेत्रीय निदेशक से प्राप्त किये। क्षेत्रीय निदेशक डाॅ एम.आर. फैज़ल व राजकीय इंटर काॅलेज के दीपज्योति सिंह राणा को प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। इग्नू के 72 वर्षीय छात्र सेवानिवृत इंजी. आर.सी.पाली व इग्नू से एम.एड. कर नेट क्वालीफाई करने वाले सिद्धार्थ विश्वविद्यालय के प्रो रामबाबू पाल ने अपने अनुभव शेयर किए। प्राचार्य शंभू के.एन.सिंह रावत ने धन्यवाद ज्ञापित किया। संचालन प्रखर गोयल ने किया। इस दौरान डाॅ एस.एफ. उस्मानी, डाॅ अजीता सिंह, डाॅ सुनील चैहान, डाॅ एस.सी. गुप्ता, प्रो प्रवीन कुमार, प्रो सर्वेश देवी, डाॅ अनुपम राघव, डाॅ गीता शर्मा, प्रो सुप्राची शर्मा, प्र्रो सुमनलता गौतम, प्रो गिरिराज सिंह, राजेश कुमार उपस्थित थे। 

इन्हें भी पढ़ें

loading...